31 जुलाई तक किसान करा सकेंगे प्रधानमंत्री योजना के तहत फसल बीमा

भोपाल। किसान 31 जुलाई तक अपनी फसल का बीमा करा सकेंगे। दरअसल यह बीमा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किए जा रहे हैं। इस योजना के अंतर्गत वर्ष 2022- 23 मौसम खरीफ एवं रबी के लिए कलस्टरवार निर्धारित बीमा कंपनियों को कार्य आदेश जारी किए जा चुके हैं। किसानों को फसल बीमा कराने के बाद ही उनकी मौसम या अन्य प्राकृतिक घटना की वजह से खराब हाेने वाली फसल की बीमा राशि मिल सकेगी। योजना के तहत खरीफ 2022 के लिए अधिसूचित पटवारी हल्का अंतर्गत किसानों की अधिसूचित फसलों का बीमा करने के लिए बैंकों द्वारा प्रीमियम नामे 31 जुलाई तक निर्धारित किए जाएंगे। बैंकों द्वारा बीमित किसानों की प्रविष्टि हेतु भारत सरकार का फसल बीमा पोर्टल पर बैंकों द्वारा समय-सीमा में प्रविष्टि किया जाना आवश्यक है। बोई गई फसल की क्षति के समय कृषकों को हानि से बचने के लिये तथा बोई जाने वाली फसल में किसान द्वारा किसी भी प्रकार का परिवर्तन किया गया है तो किसान द्वारा संबंधित बैंक से सम्पर्क कर बीमांकन की अंतिम तिथि के दो दिन पूर्व यानि 29 जुलाई तक बोई गई वास्तविक फसल की जानकारी बैंकों उपलब्ध कराया जाना है। किसानों की सुविधा को देखते हुए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना मौसम खरीफ 2022 अन्तर्गत प्रदेश में नेशनल काप इन्श्योरेन्स पोर्टल पर भू – अभिलेख के एकीकरण का कार्य किया जा रहा है। पंजीयन के समय कृषक की भूमि धारिता संबंधी जानकारी भू-अभिलेख के आधार पर पोर्टल में ड्राप डाउन पर उपलब्ध हो सकेगी जिसमें।

बीमाकर्ता बैंकर्स, कामन सर्विस सेन्टर, स्वंय कृषक द्वारा संगत खसरा नंबर का चयन कर धारित भूमि का बीमा किया जा सकेगा। किसानों की सुविधा को देखते हुए पंजीयन के दौरान खसरा नंबर तथा बीमित भूमि के क्षेत्रफल की सही- सही जानकारी बैंक द्वारा एनसीआइपी पोर्टल पर दर्ज की जाना है जिससे किसानों को समय पर सही बीमा पालिसी जारी हो सकेगी।